हमारे शहर में

पिछले दिनों एक क़त्ल हुआ था 
हाँ ! वह लड़की थी, 
ढेरों सवाल इसलिए भी उठे थे, 
उसके सही गलत होने कि, 
ठंडी जिस्मों ने खूब चर्चा की,
सुनने में आया है, 
पुलिस ने जाँच पूरी कर ली है,
कोई कातिल अब तक सामने नहीं आया,
जिन पर शक था, सब बरी हो गए,
सभी ने एक दूसरे को शुक्रिया कहा। 
लड़की के घर वालो के पास,
कोई जवाब नहीं है,
सिवाय बेबसी के,
अब भी उसका, वैसे ही इंतज़ार,
इतना बज़ गया, 
आने वाली होगी, क्यों नहीं आयी ?
माँ दरवाज़े से लौट आती है,
अपने में ही खोयी सी,
उसकी तलाश में, 
न जाने कहाँ खो जाती है?
अखबारों के लिए, "वह" अब खबर न रही,
कल शाम ही तो नई वारदात हुई है,
इस बार कोई बच्चा था,
पहचानना मुश्किल था ,
शायद ! लड़का है??

Comments

स्मृतियाँ

सक्षम

अग्नि-परीक्षा