Thursday, 7 October 2010

छोटी सी बात


अक्सर बातें बेवजह शुरू हो जाती हैं ,
काफी दूर तक जाती है .
 कुछ अपने कुछ पराए हो जाते हैं,
कितना अजीब होता है ,
एक छोटी सी बात,
कहाँ से कहाँ तक जाती है ,
क्या -क्या हो जाता है ,
 कोई जीत कर हार जाता है . 
कुछ का कुछ हो जाता है ,
कहीं हिंदुस्तान, 
 कहीं पाकिस्तान हो जाता है . 

No comments:

Post a Comment